जशपुर की नई पहचान बने चाय बागान

सारूडीह का चाय बागान बना पर्यटकों के लिए आकर्षक का केंद्र

जशपुर की नई पहचान बने चाय बागान

. केवल दस रूपए की फीस में चाय के बागान में अद्भुत नजारे नजर आ रहे है .

जशपुर की नई पहचान बने चाय बागान

महिला समूह को पर्यटकों के आने से काफी ज्यादा लाभ प्राप्त हो रहा है.

जशपुर की नई पहचान बने चाय बागान

अनुपयोगी जमीन पर उगाया गया चाय बागान

जशपुर की नई पहचान बने चाय बागान

यह सारूडीह का चाय बागान पर्वत और जंगलों से लगा हुआ है .

जशपुर की नई पहचान बने चाय बागान

. यह 20 एकड़ में फैला हुआ है.