Advertisements

2 नाबालिग छात्राओं को हॉस्टल की छत से फेंका

Advertisements

2 नाबालिग छात्राओं को हॉस्टल की छत से फेंका

एक बहन की मौत, दूसरी की हालत गंभीर; उत्तेजित भीड़ का पुलिस पर पथराव, गाड़ियां फूंकी

Advertisements

पटना सिटी के बहादुरपुर में एक हॉस्टल की छत से दो नाबालिग छात्राओं को एक सिरफिरे ने नीचे फेंक दिया। हादसे में एक की मौत हो गई। दूसरी को घायल हालत में लोगों ने PMCH में भर्ती कराया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। दोनों छात्राएं एक-दूसरे की बहन थीं। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने जमकर बवाल किया।

घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची बहादुरपुर पुलिस पर लोगों की भीड़ ने जमकर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस की कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया। इस हादसे में बहादुरपुर थाना प्रभारी, सुलतानगंज थाना प्रभारी सहित एक दर्जन से ज्यादा पुलिस के जवान बुरी तरह घायल हो गए।

जानकारी के अनुसार दोनों बहनें रामकृष्ण नगर कॉलोनी में ही किराए के मकान में रहनेवाले नंदलाल गुप्ता की बेटी थी। नंदलाल गुप्ता उत्तर प्रदेश के देवरिया के रहनेवाले हैं और बहादुरपुर फल मंडी में फलों का व्यापार करते हैं। उनकी दो बेटियां सलोनी (13 साल) और सोनाली (10 साल) की थीं। छत से फेंके जाने से बड़ी बेटी सलोनी की मौके पर ही मौत हो गई जबकि सोनाली गंभीर तौर पर घायल है।

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने आरोपित युवक के पास से एक चाकू बरामद किया है। इससे पहले उसको पकड़कर जमकर पिटाई कर दी । पुलिस ने बीचबचाव कर युवक को अपने कब्जे में लिया और बहादुरपुर थाना ले आई। युवक की पहचान विवेक कुमार के तौर पर हुई है। वह रामकृष्ण नगर कॉलोनी का ही रहनेवाला बताया जा रहा है। वह दरभंगा का रहनेवाला है और साल 2012 से ही यहां रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। युवक को मानसिक तौर पर विक्षिप्त भी बताया जा रहा है। इस पूरी घटना में कई सवाल हैं, जिनके जवाब अभी नहीं मिल सके हैं। आरोपित युवक विवेक ने ऐसा क्यों किया? दोनों बहनें उस हॉस्टल में क्या करने गई थीं?

मामले में पटना के SSP मानवजीत सिंह ढिल्लो के अनुसार लड़कियों को फेंकने वाला लड़का पुलिस कस्टडी में हैं। उसने ऐसा क्यों किया? इस बारे में अभी पता नहीं चल सका है। जो लड़की घायल है, उसका इलाज हॉस्पिटल में चल रहा है। लड़की का बयान लेने के बाद ही घटना के पीछे की वजह स्पष्ट हो पाएगी।

लोगों द्वारा पथराव किए जाने के बाद बहादुरपुर के थाना प्रभारी मोहम्मद अनवर खान , दारोगा सूर्यकांत, हवलदार प्रकाश ताप्ती, आरक्षी रवि रंजन, राम अवतार प्रसाद, ड्राइवर सूजन प्रसाद सहित सुल्तानगंज प्रभारी को भी गहरी चोटें आई है। लोगों का आक्रोश इतना जबरदस्त था कि समझाने पहुंची पुलिस पर जमकर पथराव ही नहीं किया गया, बल्कि पुलिस की गाड़ियों सहित कई अन्य वाहनों में भी आग लगा दी। कई पुलिसकर्मियों ने भागकर अपनी जान बचाई।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाने-बुझाने का काफी प्रयास किया। काफी देर बाद मामला शांत हुआ। फिलहाल इलाके में स्थिति नियंत्रण में है और पुलिस की कई टीमें कैंप कर रही हैं।

  • February 3, 2022
hogwarts legacy early access not working Leonardo DiCaprio Is Dating 19-Year-Old Model Eden Polani LeBron passes Kareem Abdul-Jabbar as NBA all-time scoring leader in loss to Thunder “You don’t belong here sick puppy” Romney to Santos LeBron James, not Michael Jordan, is basketball’s GOAT