Advertisements

बेहोशी आना, तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ, उलटी आना, चक्कर आना, दस्त, सिरदर्द, शरीर टूटना, बार-बार मुंह सूखना और हाथ-पैरों में कमजोरी आना या निढाल होना लू लगने के लक्षण हैं। लू लगने पर काफी पसीना आ सकता है या एकदम पसीना आना बंद भी हो सकता है।

लू लगने के बाद क्या होता है?

इस दौरान हमारे शरीर का तापमान तेजी से बढ़ता है। बाहरी तापमान और गर्म हवा की वजह से शरीर ठंडा नहीं हो पाता और शरीर का तापमान 106 डिग्री फेरनहाइट या इससे भी ज्यादा हो जाता है। लू लगने पर अगर तुरंत उपचार न मिले, तो मृत्यु या स्थायी विकलांगता भी हो सकती है।

लू लगने पर

लू लगने पर घरेलू उपाय क्या करें?जब लू लग जाए, तो कीजिए 10 उपाय

  1. खुले शरीर धूप में न निकलें। अगर निकलना ही पड़े तो धूप में निकलने पर सिर अवश्य ढंके। …
  2. अचानक ठंडी जगह से एकदम गर्म जगह ना जाएं। …
  3. ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। …
  4. लू लगने पर तत्काल योग्य डॉक्टर को दिखाना चाहिए। …
  5. बुखार तेज होने पर रोगी को ठंडी खुली हवा में आराम करवाना चाहिए।
Advertisements

लू लगने पर क्या देना चाहिए?

3 ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। जिससे पसीना आकर शरीर का तापमान नियमित निर्धारित हो सके तथा शरीर में जल की कमी न हो सके। अधिक गर्मी में मौसमी फल, फल का रस, दही, मठ्ठा, जीरा छाछ, जलजीरा, लस्सी, आम का पना पिएं या आम की चटनी खाएं। 4 लू लगने पर तत्काल योग्य डॉक्टर को दिखाना चाहिए

उपचार

लू लगने का उपचार इस पर निर्भर करता है कि आपकी स्थिति कैसी है। अगर आपको पानी की कमी की वजह से लू लगी है, तो आपको हाइड्रेट किया जाएगा। इसके अलावा, लू लगने वाले मरीज को आवश्यकतानुसार ड्रिप लगाई जाती है, ऑक्सीजन थेरेपी और थेरेपेटिक कूलिंग दी जाती है। मरीज के शरीर के तापमान को कम करने के लिए बर्फ वाले पानी का पैक और ठंडे पेय पदार्थ का इस्तेमाल किया जाता है। ठंडे पानी की भाप का भी इस्तेमाल किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

White Mountains, New Hampshire The Palouse is a distinct geographic Montana, constituent state of the United States of America ‘House of the Dragon’ episode 6 Anushka Sharma is an Indian actress